गोविन्द बल्लभ पंत राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान

(पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार का स्वायत्तशासी संस्थान)

कोसी-कटारमल, अल्मोड़ा-263643, भारत

 

 

 

 

 

 

निदेशक की कलम से.....

 

डॉ. पी पी ध्यानी
निदेशक

गोविन्द बल्लभ पंत राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान
(पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार का स्वायत्तशासी संस्थान)
कोसी-कटारमल, अल्मोड़ा-263 643, उत्तराखंड, भारत
psdir[at]gbpihed[dot]nic[dot]in

 

   

http://gbpihed.gov.in

 

1988 में पर्यावररण और वन मंत्रालय के अंतर्गत अपनी स्थापना के बाद गोविन्द बल्लभ पंत राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान, कोसी कटारमल, अल्मोड़ा भारतीय हिमालय क्षेत्र में उपयुक्त अनुसंधान और विकास रणनीतियों का विकास करने और सामाजिक-सांस्कृतिक, पारिस्थितिकी, आर्थिक और भौतिक प्रणालियों के बीच संतुलन बनाने के लिए कार्यरत है जिससे वहनीयता को बनाए रखा जा सके। इसे प्राप्त करने के लिए संस्थान अपने सभी अनुसंधान और विकास कार्यक्रमों में बहु-विषयक उपागम का अनुसरण करता है जिसमें प्राकृतिक और सामाजिक विज्ञानों को आपस में जोड़ने पर जोर दिया जाता है। विभिन्न कार्यक्रमों की दीर्घकालिक स्वीकार्यता के लिए स्थानीय निवासियों की भागीदारी सुनिश्चित कर एक समेकित प्रयास किया जाता है।

 

     संस्थान की वेबसाइट जीबीपीएनआईएचईएसडी, अल्मोड़ा की आईटी सेल द्वारा विकसित किया गया है व एनआईसी, नई दिल्ली के सर्वर पर है। अनुसंधान और विकास गतिविधियों से संबंधित सभी उपयोगी सूचनाएं भर्ती सूचना,  टेंडर सूचना इत्यादि इस वेब साईट पर समय-समय पर प्रकाशित की जाती हैं। सभी उपयोगकर्ता इस वेबसाइट का उपयोग सूचना प्राप्त करने के लिए विश्व के किसी भी कोने से कर सकते हैं। 

 

     मुझे पूर्ण आशा है कि कि यह वेबसाइट अपने उद्देश्य को प्राप्त करने में सफल होगी, जिसके लिए इसे तैयार किया गया है और यह विभिन्न प्रयोगकर्ता वैज्ञानिकों, अनुसंधान विद्वानों, लाभार्थियों, सरकारी और गैर सरकारी अधिकारियों सहित सबकी उम्मीदों को पूरा करेगी। इस सेवा के उपयोग के लिए कोई भी सुझाव और समालोचना बहुत अधिक उपयोगी सिद्ध होगी।